खुशदीप सहगल
बंदा 1994 से पेन-कम्प्यूटर तोड़ रहा है

मूच्छां में ब्रेक

Posted on
  • by
  • Khushdeep Sehgal
  • in
  • लेबल: , ,
  • हरियाणा में एक चौधरी साहब बड़े मजे से साइकिल पर कप्तान बने हवा-हवाई हुए जा रहे थे.. सामने से एक ताई आ गई..चौधरी साहब से कंट्रोल हुआ नहीं और साइकिल ताई पर जा दे मारी...अब ताई ने जो चौधरी की खबर लेनी शुरू की... तेरियां इतनी बड़ी-बड़ी मूच्छां, तैणे शर्म ना आवे से...चौधरी साहब तपाक से बोले- ताई, पहला मैणे इक बात बता...मेरिया मूच्छां में क्या ब्रेक लाग रे से...

    2 टिप्पणियाँ:

    दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi ने कहा…

    छोटी सी ही सही, एक हँसी तो आ ही गई।

    ये शब्द पुष्टिकरण?

    अरूण साथी ने कहा…

    सही कहा जी

    एक टिप्पणी भेजें

     
    Copyright © 2009. स्लॉग ओवर All Rights Reserved. | Post RSS | Comments RSS | Design maintain by: Humour Shoppe