खुशदीप सहगल
बंदा 1994 से पेन-कम्प्यूटर तोड़ रहा है

इतनी सी बात पर क्यों बुला लिया...खुशदीप

Posted on
  • by
  • Khushdeep Sehgal
  • in
  • लेबल: ,


  • राम और रावण में भीषण युद्ध चल रहा था...

    देखने वाले हर शख्स की सांसें रुकी हुई थीं...

    तभी अचानक रावण की नज़र राम के पीछे खड़े एक शख्स पर पड़ी जो मंद मंद मुस्कुरा रहा था...

    ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

    रावण एकदम से युद्ध छोड़कर खड़ा हो गया और बोला...चलो हो गया, मैं चलता हूं...

    राम भी हैरान, पूछा...आखिर हुआ क्या...

    रावण...कुछ नहीं, जाने दो, बस यूहीं...

    राम...अरे बताओ तो सही क्या बात है...

    रावण...इतनी छोटी सी बात पर 'रजनीकांत' को बुलाने की क्या ज़रूरत थी...

    2 टिप्पणियाँ:

    DR. ANWER JAMAL ने कहा…

    यह बात तो सही है ‘ब्लॉगर्स मीट वीकली‘ के लेवल से कम पर रजनीकांत को नहीं बुलाया जाना चाहिए।
    क्या आप जानते हैं कि कोई आया या नहीं आया लेकिन ब्लॉगर्स मीट वीकली का आयोजन बेहद सफल रहा ?

    Vijay Kumar Sappatti ने कहा…

    sahi hai , ek dum sahi hai sir ji



    आभार
    विजय
    ------------
    कृपया मेरी नयी कविता " फूल, चाय और बारिश " को पढकर अपनी बहुमूल्य राय दिजियेंगा . लिंक है : http://poemsofvijay.blogspot.com/2011/07/blog-post_22.html

    एक टिप्पणी भेजें

     
    Copyright © 2009. स्लॉग ओवर All Rights Reserved. | Post RSS | Comments RSS | Design maintain by: Humour Shoppe