खुशदीप सहगल
बंदा 1994 से पेन-कम्प्यूटर तोड़ रहा है

पेड़ के पीछे 'संस्कृति'...खुशदीप

Posted on
  • by
  • Khushdeep Sehgal
  • in
  • लेबल:


  • एक लड़का गर्ल-फ्रैंड के साथ पार्क में बेंच पर बैठा था...

    ---------------------------------------------------------------------------------

    --------------------------------------------------------------------------------

    --------------------------------------------------------------------------------

    -------------------------------------------------------------------------------

    --------------------------------------------------------------------------------


    सैर पर निकले एक बुज़ुर्ग ने ये नज़ारा देखा तो बोले बिना नहीं रह सके...

    बेटे, क्या यही हमारी 'संस्कृति' है...

    लड़का...नहीं अंकल ये तो 'रीति' है,

    -----------------

    -----------------

    -----------------


    आप उस पेड़ के पीछे चेक करें...

    0 टिप्पणियाँ:

    एक टिप्पणी भेजें

     
    Copyright © 2009. स्लॉग ओवर All Rights Reserved. | Post RSS | Comments RSS | Design maintain by: Humour Shoppe